Sat. Aug 13th, 2022
yogi

लखनऊ। अगर आप प्रोफेशनल फोटोग्राफी के जानकार हैं और पुरातत्व स्थलों और धरोहरों की तस्वीरें खींचने का शौक रखते हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में यूपी के पुरातत्व और संस्कृति विभाग की ओर से फोटोग्राफी प्रतियोगिता का अयोजन किया गया है। इसमें उत्तर प्रदेश के सांस्कृतिक महत्व के धरोहरों की बेहतरीन तस्वीरें खींचने वालों के लिए योगी सरकार की ओर से पुरस्कार की भी घोषणा की गयी है। अंतिम तिथि 15 अगस्त है।

 

उत्तर प्रदेश राज्य पुरातत्व विभाग के निदेशक की ओर से इस बारे में जानकारी दी गयी है। बताया गया है कि ये प्रतियोगिता सभी आयुवर्ग के लोगों के लिए आयोजित की जा रही है। इसमें उत्तर प्रदेश राज्य पुरातत्व विभाग की ओर से संरक्षित धरोहरों की फोटो ही मान्य होंगे। एक स्मारक के चार एंगल से फोटोग्राफ्स लेने होंगे। साथ ही फोटोग्राफ्स का रिजोल्यूशन 600 डीपीआई से कम का ना हो। इसके अलावा फोटो पर किसी प्रकार का वाटरमार्क और नाम नहीं लिखा होना चाहिए। सभी चयनित फोटो पर विभाग का कॉपीराइट रहेगा।

 

सबसे अच्छी तस्वीरें खींचकर प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पर आने वाले प्रतिभागियों को योगी सरकार की ओर से क्रमश: 10 हजार, सात हजार और पांच हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। इसके अलावा दो-दो हजार रुपये के दो सांत्वना पुरस्कार भी दिये जाएंगे। अन्य प्रतिभागियों को भी निराश होने की आवश्यक्ता नहीं है। किसी भी स्थान पर ना आने वाले प्रतिभागियों को सरकार की ओर से सहभागिता प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

 

इस फोटोग्राफी प्रतियोगिता के बारे में 9648128227 पर वाट्सएप करके अधिक जानकारी हासिल की जा सकती है। प्रतियोगिता के लिये फोटोग्राफ्स पुरातत्व विभाग की मेल पर 15 अगस्त से पहले भेजना होगा।