Sun. Aug 14th, 2022
sbi

नई दिल्ली। नेटवर्क


देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरें बढ़ा दी हैं. ब्याज दरों में 40 से 90 बेसिस प्वाइंट्स की बढ़ोतरी की गयी है. एफडी पर बढ़ी हुई ब्याज दरें 10 मई से लागू हो गयीं हैं.

भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से अचानक रेपो रेट में वृद्धि के बाद एसबीआई समेत कई बैंकों ने होम लोन समेत तमाम लोन पर ब्याज दरें बढ़ा दी. इसने ग्राहकों की जेब पर बोझ डाला. अब बैंकों ने थोड़ी राहत देने की कोशिश के तहत एफडी पर ब्याज दरें बढ़ाने की घोषणा की है.

आम ग्राहकों को नहीं होगा फायदा
हालांकि, इसका लाभ आम ग्राहकों को नहीं मिलने जा रहा है. एसबीआई ने 2 करोड़ रुपये या इससे अधिक की फिक्स्ड डिपॉजिट पर ही ब्याज दरें बढ़ायीं हैं. एसबीआई की वेबसाइट पर जो जानकारी दी गयी है, उसके अनुसार, अगर आप 2 करोड़ रुपये या इससे अधिक बैंक में तीन साल से पांच साल अथवा 5 से 10 साल के लिए जमा करते हैं, तो आपको ब्याज दरों में 0.90 फीसदी तक का फायदा होगा.

स्टेट बैंक पहले इस ब्रैकेट के अपने ग्राहकों को 3.60 फीसदी की दर से ब्याज देता था, अब इस पर 4.50 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. इसी तरह, 2 से 3 साल की अवधि वाली फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर मिलने वाली ब्‍याज दरों को 3.60 फीसदी से बढ़ाकर 4.25 फीसदी कर दिया गया है. 1 से 2 साल में मैच्योर होने वाली एफडी पर एसबीआई अब 4 फीसदी की दर से ब्‍याज देगा. पहले 3.60 फीसदी की दर से ब्‍याज मिलता था.

इन्हें मिलेगा नयी ब्याज दरों का फायदा
स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया SBI अब अपने ग्राहकों को 46 से 179 दिन और 180 से 210 दिन की अवधि वाली फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर 3.50 फीसदी की दर से ब्‍याज देगा. 211 दिन से एक साल से कम अवधि वाली फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर बैंक अब 3.75 फीसदी ब्‍याज देगा. नयी ब्‍याज दरें नयी फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट और मैच्योर होने पर रिन्‍यू करायी जाने वाली एफडी पर लागू होंगी.