Fri. Jun 21st, 2024

T20 वर्ल्ड कप जीतने के लिये रोहित और विराट का होना जरूर है नहीं तो…

T20 World Cup

T20 World Cup 2024: भारत को टी20 वर्ल्ड कप की तैयारी कर रही है, और उनका पहला पड़ाव ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही 5 मैचों की घरेलू टी20 सीरीज में चल रहा है. इस सीरीज में भारत ने पहले दो मैचों में जीत हासिल की है, और तीसरा मैच आज गुवाहाटी में खेला जाएगा.

टी20 सीरीज से रोहित शर्मा और विराट कोहली को आराम का बहाना बताकर खेलने का मौका नहीं दिया जा रहा है. हालांकि, अभी तक इस बात की जानकारी नहीं है कि रोहित, विराट खुद टी20 फॉर्मेट खेलना नहीं चाहते, या वाकई में उन्हें आराम की जरूरत है, या इंडियन टीम मैनेजमेंट अब उन्हें टी20 फॉर्मेट में रखना नहीं चाहते?

ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Whatsapp Channel को Follow करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें

 

पिछले टी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया रोहित की कप्तानी में खेली थी, और सेमीफाइनल तक भी पहुंची थी. विराट कोहली ने भी उस वर्ल्ड कप में खूब रन बनाए थे, और कई मैच विनिंग पारियां खेली थी. हाल ही में खत्म हुए वनडे वर्ल्ड कप में भी इन्हीं दोनों बल्लेबाजों ने सबसे ज्यादा रन बनाए हैं. लिहाजा, निश्चित तौर पर टी20 वर्ल्ड कप में रोहित और विराट का रहना टीम इंडिया के लिए दो मजबूत पिलर की तरह होगा, लेकिन अगर उन्हें खेलना है, तो अगली दो टी20 सीरीज़ में उनका नाम रहना भी जरूरी होगा.

IPL 2023 : एमएस धोनी की CSK टीम ये खिलाड़ी मचायेंगे धमाल

पिछली कुछ टी20 सीरीज और मौजूदा ऑस्ट्रेलिया की टी20 सीरीज में भी भारतीय चयनकर्ताओं ने सिर्फ युवाओं पर भरोसा जताया है. ओपनिंग की बात हो, या मध्यक्रम की, या गेंदबाजी क्रम की, हर चीज की जिम्मेदारी युवा खिलाड़ियों को सौंपी गई है, और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन करके भी दिखाया है, लेकिन क्या वेस्टइंडीज और यूएसए में होने वाले वर्ल्ड कप में टीम इंडिया को अनुभव की जरूरत नहीं पड़ेगा? क्या इतनी ज्यादा युवा टीम के भरोसे ही टीम इंडिया वर्ल्ड कप खेलने जाएगी? और अगर इस टीम में अनुभव को मिक्स करना है, तो अनुभवी खिलाड़ियों को टी20 मैच खेलने का मौका कब मिलेगा?

 

पिछली कुछ टी20 सीरीज में ऐसा देखा जा रहा है कि भारतीय क्रिकेट टीम की गेंदबाजी अर्शदीप सिंह, मुकेश कुमार, प्रसिद्ध कृष्णा, आवेश खान जैसे युवा गेंदबाज संभाल रहे हैं. ऐसे में क्या इन्हीं गेंदबाजों को टी20 वर्ल्ड कप में भेजा जाएगा, या वनडे वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करने वाले और अनुभवी मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज को टीम में शामिल किया जाएगा? क्या गेंदबाजी में भी युवाओं और अनुभवों का मिश्रण लाया जाएगा, और अगर ऐसा होगा तो शमी, बुमराह और सिराज को भी गेम टाइम की जरूरत होगी, वो उन्हें कब मिलेगा?

 कप्तान बनने के बाद शुभमन गिल का पहला रिएक्शन आया सामने, फैंस हुए गदगद

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप शुरू होने से ठीक पहले आईपीएल 2024 खत्म होगा. ऐसे में इतना तो निश्चित है कि वर्ल्ड कप के लिहाज से आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों पर भारतीय चयनकर्ताओं की नज़र जरूर होगी, लेकिन आईपीएल के बाद टीम इंडिया के पास एक भी अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच बचा नहीं होगा, तो क्या चयनकर्ताओं के लिए आईपीएल के भरोसे वाली रणनीति सही होगी? ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि भारत और वेस्टइंडीज की पिचों में काफी फर्क होता है, इसलिए यह जरूरी नहीं होगा कि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी कैरिबियन पिचों पर भी अच्छा करेंगे. इसके अलावा आईपीएल और अंतरराष्ट्रीय मैचों के अनुभव में भी काफी अंतर होता है.

Related Post