Sun. Aug 14th, 2022
images

नई दिल्ली ।नेटवर्क

यूपी बोर्ड सहित कई राज्यों में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड की परीक्षाएं शुरू होने जा रही हैं। ऐसे में छात्रों को अच्छे मार्क्स लाने के टेंशन बनी रहती है। विशेषज्ञों के अनुसार कुछ बातों को ध्यान में रखकर परीक्षाएं देंगे तो आपको नंबर भरपूर मिलेंगे।

छात्रों को बोर्ड की परीक्षा का पहला अनुभव होता क्लास 10 में होता है, तो ज़ाहिर है कि उनको सबसे ज़यादा डर लगता होगा और जिसके कारण वो परीक्षा में उतना अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाते होंगे जितना वो कर सकते थें। परीक्षा वाले दिन समय का ध्यान रखें अगर सुबह की पाली में पेपर है तो सुबह को 2 घंटे पहले सब तैयारियां करनी शुरू कर दें और समय से पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंच जाएं। अपना रोल नंबर के अनुसार कक्ष कक्ष संख्या को ढूंढ ले।

कॉन्फिडेंस के साथ दें पेपर

जब आप परिक्षा देने के लिए जाते हो उस समय आप डरे होते हो जिसकी वजह से आता हुआ प्रश्न भी छूट जाता है। इसिलीए इग्जान देते समय आपको डरना नही चाहीए और अपने आप पर विश्वास रखना चाहीए की आप ये कर सकते हो।

सभी प्रश्नो को पढ़ें

पेपर सॉल्व करने से पहले सारे प्रश्न अच्छे से पढ़ ले, ऐसा करने से आपको पता चल जाएगा की किस टाईप के प्रश्न पूछे गये हैं और किस को सॉल्व करने में कितमा समय लगेगा।

सबसे पहले जो प्रसन्न सही आते हैं उन्हीं करें

एग्जाम देते समय हर छात्र के मन में एक सवाल आता है की किस प्रश्न को पहले सॉल्व करे, ऐसे में आपको उस प्रश्न का उत्तर लिखना चाहीए जो आपको आसान लगे और आपको अच्छे से आता हो।

प्रश्न का उत्तर कैसे लिखें

किसी भी प्रश्न का उत्तर लिखते समय इन बातों का ध्यान रखे:-

-हर अगला प्रश्न नए पेज से शुरू करें

-उत्तर लिखने से पहले अपले दिमाग में सोच ले

-स्टार्टिंग के वर्ड इनटरेश्टिंग और सब्जैक्ट रिलेटेड होना चाहीए

-उत्तर लिखते समय वर्ड लिमिट का भी ध्यन रखें

हैंडराइटिंग पर दें ध्यान

पेपर लिखते समय सबसे जरूरी है हैंडराइटिंग पर ध्यान देना। अगर आपकी हैंडराइटिंग अच्छी होगी तो आपको अच्छे मार्क्स मिलेंगे।

टाइम मैनेजमेंट

किसी भी एग्जाम में टाइम का बहुत महत्व होता है, ऐसे में टाइम को सही से मैनेज करना बेहद जरूरी होता है। अगर आपकी राइटिंग स्पीड स्लो है तो आप सभी प्रश्नों का जवाब सही से नहीं दे पाएंगे, इसलिए आपको अपनी राइटिंग स्पीड बढ़ानी पड़ेगी।

रिविजन

सभी प्रश्नों का उत्तर लिखने के बाद आप एक बार फिर से देख लें की कहीं कुछ छूट तो नहीं रहा। किसी भी इग्जाम में रिविजन बहुत मददगार है।

कभी भी नाकारात्मक सोच अपने अंदर ना आने दें

बोर्ड की परीक्षा देते समय कभी भी नकारात्मक सोच अपने अंदर ना आने दे। प्रसन्न प्रश्नपत्र में कुछ प्रसन्न छूट गए हैं तो उसकी टेंशन ना लें ।अगले पेपर को सही से करने के बारे में सोचें सकारात्मक सोच के साथ परीक्षा दोगे तो परिणाम भी सकारात्मक ही होंगे।