Fri. Jun 21st, 2024

10 हजार रुपये निवेश करने पर मिलेंगे 16 लाख से अधिक

Post Office Recurring Deposit
Post Office Recurring Deposit

पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग स्कीम एक बेहतर निवेश माध्यम होती हैं. इसमें कम लागत के साथ निवेश करने पर मोटी कमाई (Earn Money) हो जाती है. ऐसे ही पोस्ट ऑफिस की एक स्कीम का नाम है – पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट इसमें आपको बेहतर रिटर्न मिलता है.अगर आप हर महीने पोस्ट ऑफिस की RD स्कीम में 10 हजार रुपए का निवेश करते हैं, वो भी 10 साल के लिए, तो उसे मेच्योरिटी पर 16,26,476 लाख रुपये मिलेंगे.

कुल मिलाकर इस स्कीम के जरिए आप बहुत कम पैसों के साथ निवेश की शुरुआत कर सकते हैं. इसमें इसके अलावा आपके पैसे भी पूरी तरह से सुरक्षित रहेंगे. इसमें आप 100 रुपये महीने से निवेश कर सकते हैं. अधिक से अधिक की कोई लिमिट नहीं है. आप कितना भी निवेश कर सकते हैं. पोस्ट ऑफिस RD डिपॉजिट अकाउंट बेहतर ब्याज दर के साथ छोटी किस्तों जमा करने की एक सरकार की गारंटी योजना है.

ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Whatsapp Channel को Follow करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें

जानिए कितना मिलेगा ब्याज?
पोस्ट ऑफिस में जो RD अकाउंट ओपन होता है वो 5 साल के लिए होता है. इससे कम समय के लिए नहीं खुलता. हर तिमाही (सालना रेट पर) जमा धन पर ब्याज का कैलकुलेशन किया जाता है. फिर इसे हर तिमाही के आखिरी में आपके अकाउंट में चक्रवृद्धि ब्याज (compound interest) के साथ जोड़ दिया जाता है. इंडिया पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट के मुताबिक, RD स्कीम पर मौजूदा समय में 5.8 फीसदी ब्याज दी जा रही है. केंद्र सरकार हर तिमाही अपनी सभी स्मॉल सेविंग स्कीम्स (small saving schemes) में हर तिमाही ब्याज दर की घोषणा करती है.

10 हजार रुपये निवेश करने पर मिलेंगे 16 लाख से अधिक
अगर आप हर महीने पोस्ट ऑफिस की RD स्कीम में 10 हजार रुपए का निवेश करते हैं, वो भी 10 साल के लिए, तो उसे मेच्योरिटी पर 16,26,476 लाख रुपये मिलेंगे.

RD अकाउंट के बारे में कुछ खास बातें
अगर आप समय से RD की किस्त नहीं जमा करते हैं तो आपको जुर्माना देना होगा. किस्त में देरी होने पर आपको हर महीने एक फीसदी जुर्माना देना होगा. इसके साथ ही अगर आपने लगातार 4 किश्तें नहीं जमा की तो आपका अकाउंट बंद हो जाएगा. हालांकि अकाउंट बंद होने पर इसे अगले 2 महीने के लिए फिर से एक्टिवेट किया जा सकता है.

By Bhoodev Bhagalia

जागरूक यूथ न्यूज डिजिटल में सीनियर डिजिटल कंटेंट प्रोड्यूसर है। पत्रकारिता की शुरुआत हिन्दुस्तान अखबार, अमर उजाला, समर इंडिया होते हुए जागरूक यूथ न्यूज में पहुंचा। लगातार कुछ अलग और बेहतर करने के साथ हर दिन कुछ न कुछ सीखने की कोशिश। राजनीति, अपराध और पॉजिटिव खबरों में रुचि।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *