Sun. Aug 14th, 2022
chandra

नई दिल्ली। नेटवर्क

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले नेताओं का दल-बदल और राजनीतिक पार्टियों को नफा-नुकसान देखबर सियासी गठबंधन का दौर लगातार जारी है. एक तरफ समाजवादी पार्टी का पिछले दिनों कई भाजपा नेताओं ने दामन थामा तो दूसरी तरफ ऐसी भी खबरें आनी लगीं कि भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर भी अखिलेश के खेमे में जा सकते हैं पर दोनों के बीच बात बनते-बनते बिगड़ गयी. वहीं अब ऐसी खबर है कि चन्द्रशेखर अकेले चुनावी मैदान में उतरने वाले हैं.

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस से भी भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद की बात नहीं बनी है. अब ऐसी खबर है कि चंद्रशेखर की भीम आर्मी अकेले यूपी चुनाव में उतर सकती है. चन्द्रशेखर आज ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भीम आर्मी के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर सकते हैं. वहीं सपा की सहयोगी पार्टी सुभासपा अध्यक्ष ओपी राजभर का बयान भी आया था. उन्होंने कहा था कि वह चंद्रशेखर को कहीं नहीं जाने देंगे और सीट बंटवारे पर अखिलेश से बात करेंगे. उन्होंने यहां तक कह दिया था कि जरूरत पड़ने वह भीम आर्मी चीफ को अपने कोटे से टिकट देंगे.

चंद्रशेखर आजाद रावण की पार्टी से गठबंधन न होने को लेकर अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा कि इसके पीछे कोई साजिश लगती है. उन्होंने कहा कि मैंने चंद्रशेखर आजाद को दो विधानसभा सीटें देने की बात कही थी. वे इस पर राजी हो गये थे. लेकिन फिर बाहर आकर उन्होंने पता नहीं कहां बात की और कहा कि हम दो सीटों पर चुनाव नहीं लड़ सकते.

दिल्ली में बात की या फिर कहां बात की, पता नहीं. अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी के चुनाव के लिए बड़ी-बड़ी साजिशें हो रही हैं. लेकिन, समाजवादी पार्टी इन सबसे पीछे नहीं हटेगी. उन्होंने कहा कि गठबंधन में लोगों को साथ लेने के लिए उनके दल के लोगों ने बड़ा त्याग किया है. बसपा के लेकर एक सवाल के जबाव में कहा कि हमने दो साल से इंतजार किया हमें कोई जबाव नहीं आया है। इस चुनाव में अकेले ही लड़ेेंगे जिसकी तैयारी कर दी है.