Mon. Oct 3rd, 2022

रुद्रपुर। राज्य कर विभाग अधिकारियों द्वारा किए जा रहे जीएसटी सर्वे के विरोध में गुरुवार को व्यापारी सड़कों पर आ गए। व्यापारियों ने प्रदर्शन कर जीएसटी विभाग का पुतला फूंका। व्यापारियों ने जीएसटी अधिकारियों के व्यापारियों का उत्पीड़न बंद ना करने पर बाजार बंद की चेतावनी दी है।

राज्य कर विभाग ने पिछले कई दिनों से रुद्रपुर में सर्वे अभियान चला रखा है। अभियान के तहत राज्य कर अधिकारी दुकानों पर खरीद और बिक्री के बिल चेक कर रहे हैं। इधर व्यापार मंडल राज्य कर विभाग के इस सर्वे के विरोध में आ गया है। व्यापारियों ने प्रदर्शन कर बाटा चौक पर जीएसटी विभाग का पुतला फूंका।

व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय जुनेजा ने कहा कि राज्य कर विभाग के अफसर छापे मारकर बाजार में डर का माहौल बना रहा है। व्यापारी प्रत्येक माह बिक्री और स्टॉक का ब्योरा विभाग को जमा करता है लेकिन जब टैक्स बन ही नही रहा तो व्यापारी कैसे टैक्स जमा करे लेकिन इसके बाद भी व्यापारियों पर टैक्स जमा करने के लिए दबाव डाला जा रहा है।

 

उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों से जीएसटी क्षतिपूर्ति का पांच हजार करोड़ रुपये प्रति वर्ष दिया जाता रहा है लेकिन अब एक जुलाई से राज्य सरकार को जी एस टी क्षतिपूर्ति नही मिलेगी इसी कारण सरकार अधिकारियों को खुली छूट देकर इंस्पेक्टर राज लागू करना चाहती है।

प्रदर्शनकारियों में हरीश अरोरा, राकेश डूडेजा, नरेश ग्रोवर, अश्वनी बजाज, बॉबी टुटेजा, रमेश जिंदल, हिमांशु मिड्ढा, सोनू खुराना, पवन गाबा, आकाश भुसरी, राहुल सरीन, सचिन तनेजा, अटल गुगलानी, पंकज सुखीजा गोविंद अग्रवाल ,मनीष अग्रवाल ,मनीष गोस्वामी, भरत बत्रा, अमित बांगा आदि व्यापारी मौजूद थे ।