Mon. Oct 3rd, 2022
Smart Invest

नई दिल्ली। Smart Invest: आज के दौर में यदि हम औसत महंगाई की दर को 6 प्रतिशत माल लें तो यदि आप आज 1 लाख रुपये कमा रहे हैं तो आपको 20 साल बाद इसी लाइफस्टाइल को मेंटेन करने के लिए 3.2 लाख / माह से अधिक की आवश्यकता होगी। 25 वर्षों के बाद, आपको समान जीवन स्तर के लिए 4.2 लाख रुपये से अधिक और 30 वर्षों के बाद 5.7 लाख रुपये से अधिक की आवश्यकता होगी।

इससे साफा पता चलता है कि महंगाई के कारण उम्र बढ़ने के साथ-साथ जीवन यापन की लागत बढ़ती रहेगी। इसलिए, अपने करियर की शुरुआत से ही यदि आप फाइनेंशियल एडवाइजर की सलाह लेते हैं तो आप आसानी से अपने रिटायरमेंट की प्लानिंग कर सकते हैं।

जल्दी शुरूआत हमेशा बेहतर
सेवानिवृत्ति/पेंशन के लिए जल्द से जल्द निवेश शुरू करना हमेशा बेहतर होता है, निवेश के लिए 20 से 30 साल की उम्र सबसे मुफीद मानी जाती है। आप जितनी जल्दी शुरू करेंगे, आपकी सेवानिवृत्ति राशि या पेंशन संपत्ति उतनी ही बड़ी होगी। आप अपने पेंशन लक्ष्यों में निवेश शुरू करने के लिए राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) का भी उपयोग कर सकते हैं।

5000 रुपये का निवेश कैसे बनेगा 1.6 लाख
सरकार द्वारा समर्थित एनपीएस रिटायरेमेंट की योजना बनाने के लिए सबसे लोकप्रिय निवेश विकल्पों में से एक है। दिलचस्प बात यह है कि एनपीएस ट्रस्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर एनपीएस कैलकुलेटर से पता चलता है कि 25 साल की उम्र से एनपीएस टियर -1 खाते में 5000 रुपये / महीने का योगदान करने से मासिक पेंशन 1.6 लाख रुपये से अधिक हो सकती है। हालाँकि, यहां आपको कुछ बातें याद रखनी होंगी।

25 की उम्र से निवेश
एनपीएस से डेढ़ लाख की पेंशन पाने के लिए जरूरी है कि आप 25 साल की उम्र से निवेश शुरू करें और 60 साल तक जारी रखें। आपके निवेश पर अपेक्षित रिटर्न 12 प्रतिशत है। कैलकुलेटर के अनुसार, यदि अपेक्षित रिटर्न घटकर 8 प्रतिशत रह जाता है, तो आप मासिक पेंशन के रूप में 57,000 रुपये से अधिक प्राप्त कर सकेंगे।

10000 के निवेश से कितनी आय
एनपीएस कैल्कुलेटर के अनुसार यदि आप 25 वर्ष की आयु से प्रति माह 10,000 रुपये का निवेश करते हैं तो आप 3.2 लाख रुपये की पेंशन प्राप्त करने में सक्षम होंगे, बशर्ते ऊपर वर्णित अन्य सभी शर्तें समान रहें। आप एक बड़ा रिटायरमेंट फंड प्राप्त करने के लिए निवेश के दौरान अपना योगदान बढ़ा भी सकते हैं। एनपीएस नियमों के अनुसार, 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के समय एक ग्राहक अपनी संचित पेंशन राशि का 100 प्रतिशत तक एन्युटी खरीद सकता है।

रिटर्न पर निर्भर है भविष्य
एनपीएस में पेंशन फंड का चयन और उस फंड का प्रदर्शन आपके रिटायरमेंट पर मिलने वाली राशि को तय करते हैं। फिलहाल एनपीएस के तहत कई फंड 12 प्रतिशत तक रिटर्न दे रहे हैं। लेकिन ऐसे उच्च रिटर्न की गारंटी भविष्य के लिए भी नहीं दी जा सकती है।

NPS खाता कौन खोल सकता है?
कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 18 से 70 साल के बीच है, इसमें शामिल हो सकता हैम आप किसी भी बैंक में एनपीएस अकाउंट खुलवा सकते हैं। मैच्योरिटी के बाद निवेशक NPS में से 60 फीसदी पैसा निकाल सकते हैं। यानी कि 60 साल की आयु के बाद कोई व्यक्ति NPS में कुल जमा राशि में से 60 फीसदी अमाउंट बिना किसी टैक्स के निकाल सकता है।

ऑफलाइन प्रक्रिया
NPS अकाउंट ऑफलाइन या मैन्युअल रूप से खोलने के लिए, सब्‍सक्राइबर को पहले PoP-Point of Presence (यह बैंक भी हो सकता है) सर्च करना होगा। अपने नजदीकी PoP से एक सब्सक्राइबर फॉर्म लीजिए और इसे KYC पेपर्स के साथ जमा करें। एक बार जब आप शुरूआती निवेश करते हैं (500 रुपये या 250 रुपये मासिक या 1,000 रुपये से कम नहीं), तो PoP आपको एक PRAN – स्थायी रिटायरमेंट अकाउंट नंबर भेजेगा। इस संख्या और पासवर्ड की मदद से आप अपने अकाउंट को चला सकते हैं।

ऑनलाइन प्रक्रिया
यदि आप अपने खाते को अपने पैन, आधार/ या मोबाइल नंबर से जोड़ते हैं, तो एक खाता ऑनलाइन खोलना आसान है। आप अपने मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी का उपयोग करके रजिस्ट्रेशन को मान्य कर सकते हैं। इसके बाद आपको एक PRAN (स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या) मिलेगी जिसकी मदद से आप NPS लॉग इन के लिए कर सकते हैं। अकाउंट कैसे खोला जाता है?