Sat. Aug 13th, 2022
pm kisan samman nidhi

लखनऊ । नेटवर्क

pm kisan samman nidhi पीएम किसान सम्मान निधि के सत्यापन के बाद बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। अब तक 03 लाख 15 हजार 10 लाभार्थी अपात्र पाए गए हैं। इन्हें अब तक दी गई धनराशि की वसूली कराई जाएगी। मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने सभी जिलाधिकारियों को इस मामले को गंभीरता से लेते हुए की गई कार्यवाही की लगातार समीक्षा के निर्देश दिए हैं। अपात्रों को मिली धनराशि वापस केंद्र सरकार को लौटाई जाएगी।

केंद्र सरकार ने किसानों के कल्याण के लिये किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। जिसकी 10 किस्ते किसानों को मिल चुकी है। 11 वीं किश्त जल्द उनके खाते में आने वाली है।


यूपी में अब तक 2.55 करोड़ किसानों को कम से कम एक बार पीएम किसान सम्मान निधि pm kisan samman nidhiका लाभ मिल चुका है। इनमें से 6.18 लाख किसान ऐसे हैं जिनके डेटाबेस में उनका आधार संख्या गलत दर्ज था या आवेदन पत्र और आधार कार्ड में दर्ज नाम में भिन्नता है। ऐसे लोगों को अगली किस्त नहीं मिल सकी है। मुख्य सचिव ने कहा है कि विभाग और जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयासों से कुछ लोगों का डेटाबेस सुधारा जा चुका है। बाकी प्रकरणों का निस्तारण अभी होना है।

केंद्र सरकार ने सभी लाभार्थियों का ईकेवाईसी 31 मई तक कराने के निर्देश दिए हैं। अभी तक सिर्फ 53 फीसदी लाभार्थियों का ही ईकेवाईसी हो सका है। पीएम किसान पोर्टल या कॉमन सर्विस सेंटर CSC पर जाकर किसान स्वयं भी निर्धारित शुल्क देकर ईकेवाईसी करा सकते हैं। ऐसा न होने पर उन्हें अगली किश्तें मिलने में दिक्कत होगी।

मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि राजस्व विभाग और कृषि विभाग की टीम बनाकर आधार इनवेलिड, नाम मिस्मैच तथा नवीन आवेदन पत्रों का सत्यापन 30 जून तक सुनिश्चित कराएं। साथ ही सभी लाभार्थियों का ekyc ईकेवाईसी हर हाल में 31 मई तक पूरा कराएं। जिलाधिकारियों को इसकी नियमित समीक्षा के भी निर्देश दिए हैं।

kisan


अपना नाम ऐसे करें चेक
किसान सम्मान निधि की अपना नाम चेक करने के लिये सरकार की किसान सम्मान निधि की बेवसाइड https://pmkisan.gov.in पर जाकर अपना नाम चेक कर सकते है। आप अपात्र है तो बेवसाइड पर रिफंड के ऑपसन पर जाकर क्लिक कर सकते है। आपकी पूरी डिटेल खुलकर आ जायेंगी। कार्रवाई से बचने के लिये जितनी किश्त मिली है उने रिफड कर सकते है।