Mon. Oct 3rd, 2022

हल्द्वानी। केंद्रीय सैनिक बोर्ड नई दिल्ली एवं राज्य सैनिक बोर्ड सैनिक कल्याण विभाग उत्तराखंड की ओर से कुसुमखेड़ा स्थित एक बैक्वेट हॉल में आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत पहली बार आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बतौर मुख्य अतिथि केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट, मेयर डॉ. जोगेंद्र पाल सिह रौतेला, मेजर जनरल इन्द्रजीत सिह (सेनि.) और कोमोडोर एचपी सिंह ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर शुभारंभ किया।

केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि देश के विकास एवं सुरक्षा में सैनिकों का अहम योगदान है। भारत सरकार द्वारा सैनिकों के कल्याण के लिए कई महत्वाकांक्षी योजनायें चलाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा विभिन्न युद्वों व सीमान्त झड़पों तथा आन्तरिक सुरक्षा में शहीद हुए सैनिकों व अर्द्ध सैनिकों की वीरांगनाओं और आश्रितों को एकमुश्त 10 लाख का अनुदान दिया जा रहा है। युद्व में शहीद सैनिकों की वीरांगनाओं और युद्व मे अपंगता के कारण सेवामुक्त हुए सैनिकों के आवास सहायता अनुदान दो लाख रूपये दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा सैनिकों को सम्पत्ति क्रय करने पर स्टैम्प ड्यूटी में 25 प्रतिशत छूट दी है , इसके साथ ही सैनिकों के आश्रितों हेतु इंजीनियरिंग, पीएचडी एवं मेडिकल मे अध्ययनरत छात्रों को 12 हजार, 15 हजार एवं 10 हजार की छात्रवृत्ति दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा पूर्व सैनिकों की पुत्रियों एवं पूर्व सैनिकों की अनाथ पुत्रियों की शादी हेतु एक लाख का अनुदान भी दिया जा रहा है। उत्तराखंड के सभी 95 ब्लाकों में पूर्व सैनिक ब्लॉक प्रतिनिधियों की नियुक्ति है जिन्हें प्रतिमाह आठ हजार का मानदेय दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा आउटरिच कार्यक्रम में पहली बार हल्द्वानी से प्रारम्भ किया है। इसी प्रकार प्रदेश के प्रत्येक जनपदों में इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया जायेगा ताकि पूर्व सैनिकों की समस्याओं का समाधान किया जा सके। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये देहरादून, रायवाला एवं पौढी गढ़वाल ईसीएचएस पॉलिक्लिनिक भवनों का शिलान्यास किया।

समारोह में अजय भट्ट ने भूतपूर्व सैनिक राजेन्द्र गिरी, किशन सिह, सुरेश चन्द्रा, हेमचन्द्र पाण्डे को सेवा मेडल देकर सम्मानित किया इसके साथ ही 64 लोगों को ईसीएचएस कार्ड दिये गये। समारोह मे 20 पूर्व सैनिकों को जॉब कार्ड भी दिये गये। इसके साथ ही भूतपूर्व सैनिक रेवाधार पंत को 48 हजार, रणजीत सिंह को 50 हजार का पुत्री अनुदान दिया गया। राज्य सैनिक कल्याण बोर्ड योजना के अन्तर्गत अनामिका सिह, अनिता पंचोली, सावित्री पाण्डे, त्रिलोचन पाण्डे को एक-एक लाख के चेक वितरित किए गए।

अजय भट्ट ने कहा कि जमरानी बांध एवं रामगढ़ में केन्द्रीय विद्यालय की स्वीकृति मिल चुकी है, शीघ्र ही कार्य प्रारम्भ किया जायेगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही अग्निपथ योजना एक महत्वाकांक्षी योजना है, इस योजना के अन्तर्गत उत्तराखण्ड की बालिकाओं द्वारा भर्ती हेतु ऑनलाईन प्रक्रिया में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया है। आगामी माह में उत्तराखंड की बालिकाओं को अग्निवीर बनने का मौका मिलेगा। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल सेनि. जीएस बिष्ट करते हुए पूर्व सैनिकों की स्थानीय समस्याओं से अवगत कराया।

इस मौके पर सैनिकों के कल्याण हेतु पेंशन, ईसीएचएस, यूपीएनएल, सैनिक कल्याण के द्वारा स्टॉल भी लगाये गये। कार्यक्रम को मेयर डॉ. जोगेंद्र पाल सिह रौतेला, विधायक सरिता आर्य, मेजर बीएस रौतेला, मेजर जनरल इन्द्रजीत सिंह, निदेशक सैनिक कल्याण कर्नल सेनि. बीएस रावत, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, पूर्व दर्जा राज्यमंत्री गजराज बिष्ट, पूर्व सैनिक बिग्रेडियर एलके भारद्वाज, स्टेशन कमांडर बिग्रेडियर धीरेन्द्र जोशी, महानिदेशक पुर्नवास मेजर जनरल शरद कपूर, सिटी मजिस्टेट ऋचा सिह आदि रहे।