Wed. Aug 10th, 2022
muhkyamantri yuva swarozgar yojana

नई दिल्ली/लखनऊ । नेटवर्क

बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के लिये सरकार ने एक्शन प्लान तैयार किया है। जिसे युवाओं को रोजगार देकर उद्यमी बनाना है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में परियोजना लागत को 25 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ करने की तैयारी है। इससे युवाओं को रोजगार के ज्यादा अवसर मिल सकेंगे। दरअसल, योगी सरकार का लक्ष्य है कि अगले 5 साल में हर परिवार से एक व्यक्ति को रोजगार देने का है. साथ ही प्रदेश की अर्थव्यवस्था देश में नंबर एक बने।

इसी कड़ी में मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत स्वरोजगार करने के इच्छुक युवाओं की सहायता का दायरा बड़ा किया जा रहा है। परियोजना लागत को बढ़ाकर 25 लाख से 1 करोड़ किया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने इसे 100 दिन की कार्ययोजना में शामिल किया है. परियोजना लागत बढ़ने से युवाओं को स्वरोजगार करने में आसानी होगी और पैसे की कमी नहीं होगी. साथ ही ज्यादा संख्या में रोजगार का सृजन होगा. इस योजना का लाभ पाने वाले युवा खुद तो उद्यमी बनेंगे ही, साथ ही दूसरों को भी रोजगार दे सकेंगे. बता दें कि मुख्यमंत्री युवा स्वरोगार योजना की शुरुआत योगी सरकार ने 2018 में की थी।

इस योजना के तहत जो युवा शिक्षित और पात्र हैं, उनको स्वरोजगार के लिए सरकार सहायता करती है. इसके तहत पात्र युवा लोन ले सकते हैं. प्रदेश सरकार सब्सिडी प्रदान करती है. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दे दिया कि सरकार 100 दिन, 6 माह और प्रति वर्ष के लक्ष्य को तय करके काम करेगी। बताया जा रहा है कि योगी सरकार इन्‍हीं 100 द‍िनों की कार्ययोजना के ज‍र‍िए रोजगार, तकनीकी, विकास और सुधार की कसौटियों पर परखेगी. कार्ययोजना में लोक कल्याण संकल्प पत्र के बिंदुओं को भी शामिल करना अन‍िवार्य है।

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना की शर्ते

प्राप्त हुए ऋण पर अधिकतम 25ः तक की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए एवं आवेदक कम से कम हाई स्कूल पास होना चाहिए।
यदि आवेदक द्वारा किसी भी केंद्र या राज्य सरकार की योजना के अंतर्गत सब्सिडी प्राप्त की जा रही है तो वह इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर सकते हैं।
इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक किसी भी राष्ट्रीय कृत बैंक, वित्तीय संस्था एवं सरकारी संस्था का डिफॉल्टर नहीं होना चाहिए।
केवल ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से भरे गए आवेदन पत्र ही मान्य होंगे।
ऑफलाइन माध्यम से भरे गए आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किया जाएगा।

इस योजना का लाभ यूपी के सभी बेरोजगार युवाओ उठा सकते है ।
यह योजना यूपी के शिक्षित बेरोजगार युवाओ को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए मदद करेगी ।
अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की महिलाओं को भी आरक्षण मिलेगा ।
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत प्रदेश के 21ः अनुसूचितजाति/ जनजाति के युवाओ को लाभ दिया जायेगा।
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना 2022 के तहत राज्य के पुरुष और महिलाओ को लाभ प्रदना किया जायेगा ।
युवाओं को उद्योग क्षेत्र में 25 लाख रुपये तक और अन्य सर्विस सेक्टर में काम के लिए 10 लाख तक ऋण प्रदान किया जायेगा।
लोन प्राप्त करने में जो आवेदक कम लागत की इकाइयों पर काम कर रहा होगा उसे प्राथमिकता दी जाएगी।
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना 2022 की पात्रता
आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
इस उत्तर प्रदेश युवा स्वरोजगार योजना 2022 के तहत आवेदक को आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए ।
आवेदनकर्ता किसी भी सरकारी नौकरी में कार्यरत नहीं होना चाहिए ।
आवेदक का पहले किसी भी बैंक में ऋण नहीं होना चाहिए ।
वह किसी अन्य रोजगार सरकारी योजना का लाभ लेने वाला नहीं होना चाहिए ।
आवेदक का बैंक अकाउंट होना चाहिए और बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए ।
आवेदक किसी भी राष्ट्रीकृत बैंक, वित्तीय संस्था अथवा सरकारी संस्था से डिफाल्टर न हो।
इस योजना के अंतर्गत आवेदक कम से कम 10 वी पास होना चाहिए ।


युवा स्वरोजगार योजना के लिये दस्तावेज़
आवेदक का आधार कार्ड
निवास प्रमाण पत्र
पहचान पत्र
शैक्षित योग्यता का प्रमाण पत्र
आयु प्रमाण पत्र
जाति प्रमाण पत्र
पैन कार्ड
बीपीएल राशन कार्ड
मोबाइल नंबर
पासपोर्ट साइज फोटो
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना 2022 में आवेदन कैसे करे?
राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे ।

सर्वप्रथम आवेदक को उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन निर्देशालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।