शनि. जुलाई 20th, 2024

मंकी पॉक्स को लेकर एडवाइजरी जारी, जानें बचाव-लक्षण

हल्द्वानी। नेटवर्क

केरल में मंकी पॉक्स का मरीज मिलने के बाद राज्यों में भी इसे लेकर चिंता बढ़ गई है। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से मंकी पॉक्स को लेकर अलर्ट रहने को कहा है। शुक्रवार को सीएमओ नैनीताल डॉ. भागीरथी जोशी ने बताया कि राज्य सरकार ने पूर्व में मंकी पॉक्स को लेकर एडवाइजरी जारी की है।

ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Whatsapp Channel को Follow करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें

 

इसके तहत किसी को बुखार के साथ शरीर पर चकत्ते निकलते हैं तो वह तुरंत डॉक्टर से परामर्श ले। उन्होंने कहा कि मंकी पॉक्स की समस्या होने पर 21 दिन का आइसोलेशन अनिवार्य है। जानकारों का कहना है कि मंकी पॉक्स का वायरस काफी खतरनाक है। यह चार स्टेज में फैलता है और हर स्टेज पर अलग-अलग लक्षण देखने को मिलते हैं।

1 पहली स्टेज पर कोई व्यक्ति अगर संक्रमित होता है तो वह लक्षण महसूस करना शुरू कर देता है। यह लक्षण अपर रेस्पिरेटरी सिस्टम से जुड़े होते हैं और काफी हद तक बुखार जैसे लगते हैं। पहली स्टेज के लक्षणों में आपको बुखार, शरीर में दर्द और थकान महसूस हो सकती है।

2 मंकी पॉक्स की दूसरी स्टेज में बुखार जैसे लक्षण तो रहते ही हैं, साथ ही स्किन पर थोड़ी संख्या में कुछ गांठ दिखनी शुरू हो जाती हैं।

3 मंकी पॉक्स की तीसरी स्टेज पर लिम्फैडेनोपैथी हाथों, पैरों, चेहरे, मुंह या प्राइवेट पार्ट्स पर होने वाले दानों या चकत्ते में बदल सकती है।

4 मंकी पॉक्स की चौथी यानी आखिरी स्टेज पर ये दाने या चकत्ते उभर कर बडे़ दाने हो जाते हैं या कुछ ऐसे पस्ट्यूल में बदल जाते हैं जिनमें मवाद भरी होती है।

By Bhoodev Bhagalia

जागरूक यूथ न्यूज डिजिटल में सीनियर डिजिटल कंटेंट प्रोड्यूसर है। पत्रकारिता की शुरुआत हिन्दुस्तान अखबार, अमर उजाला, समर इंडिया होते हुए जागरूक यूथ न्यूज में पहुंचा। लगातार कुछ अलग और बेहतर करने के साथ हर दिन कुछ न कुछ सीखने की कोशिश। राजनीति, अपराध और पॉजिटिव खबरों में रुचि।

Related Post

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *