मंगल. जुलाई 23rd, 2024

यूपी में आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की इन जिलों में होगी तीस हजार भर्तियां

लखनऊ। नेटवर्क

यूपी में योगी सरकार आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों भर्तियां करने के लिये एक्शन प्लान तैयार किया जा रहा है। जिसके तहत उत्तर प्रदेश बाल विकास व पुष्टाहार विभाग में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों UP Aganwadi Workers Recruitment 2022 की भर्ती अब चरणबद्ध ढंग से होंगी। प्रदेश में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के 50 हजार पद खाली हैं। इनमें 20 हजार पदों पर भर्तियां छह महीने के अंदर की जाएंगी और बाकी बचे 30 हजार पदों को एक साल के अंदर भरा जाएगा।

ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Whatsapp Channel को Follow करें
ऐसी खबरें पढ़ने के लिये Group को Join करें

प्रदेश में रिक्त पद 50 हजार
1. पहले चरण में 20 हजार पदों पर होगी भर्ती
2. दूसरे चरण में 30 हजार पदों पर होगी भर्ती

विभाग ने बनाई कार्ययोजना
योगी की सरकार बनने के बाद सभी विभागों को 100 दिनों की कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये थे । जिसमें बाल विकास व पुष्टाहार विभाग ने अपनी पांच सालों की कार्ययोजना में तय किया है कि अब इन भर्तियों को एक साथ न करके, दो चरणों में किया जाएगा। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व सहायिकाओं की 2011 यानी बीते 11 सालों से भर्तियां नहीं हुई हैं लेकिन अब भर्ती का प्रस्ताव मुख्यमंत्री के सामने रखा जाएगा। यूपी के सभी जिलों में रिक्त पदों पर होगी भर्तीयां।


ऑनलाइन होगी आवेदन
बीते साल भी प्रदेश में रिक्त जिलों में आगनबाड़ी कार्यकत्रियों और सहायका की भर्ती के लिये विभाग की बेवसाइड https://balvikasup.gov.in/ पर ऑनलाइन आवेदन किये गये थे। विधान सभा के चुनाव आने के बाद भर्ती को टाल दिया गया था। विभाग के सूत्र की माने तो सभी भर्तियां नये तरीके से की जायेंगी।


योग्यता

बीते साल जो आवेदन मांगे गये थे उनमें आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की योग्यता में इटंर पास हो और जिस ग्राम में भर्ती निकली है उस ग्राम पंचायत की निवासी होना अनुवार्य है। आरक्षण वर्ग के लिये जाति और मुल निवास प्रमाण पत्र भी लगाना जरूरी होता है। मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रिया की योग्यता में हाईस्कूल और सहायिका में आठवीं पास मांगा जाता है।

मानदेय
आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मानदेय 8000 रूपये
मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रिया का मानदेय 6500 रूपये
सहायिकाओं का मानदेय 4000 रूपये
परफार्मेंस लिंक्ड बोनस और मिलती है प्रोत्साहन राशि


बीते साल यूपी सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मानदेय बढ़ाया है। वहीं परफार्मेंस लिंक्ड बोनस और कोरोना काल में काम करने के लिए प्रोत्साहन राशि भी दी है। इससे पहले आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मानदेय 5500 रुपये था। राज्य व केन्द्र सरकार का परफार्मेंस लिंक्ड बोनस 2000 रुपये और राज्य सरकार द्वारा 500 रुपये बढ़ाए गए जिससे कुल मिलाकर मानदेय अब 8000 रुपए हो गया है। वहीं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मानदेय अब 4250 की जगह 6500 रुपये और सहायिकाओं का 2750 की जगह 4000 रुपये किया गया है। इसके अलावा कोरोना काल के दौरान अच्छा काम करने पर कार्यकत्रियों को 12000 रुपये एकमुश्त और सहायिकाओं को 6000 रुपये एकमुश्त दिया गया।


बीते साल की भर्ती में फंसा का तकनीकी पेच

जनवरी, 2021 में विभाग ने 50 हजार पदों को भरने के लिए आदेश जारी किया और जिलावार भर्ती करने का निर्णय लिया गया। इसके लिए विभागीय पोर्टल से आवेदन लिया जा रहा था लेकिन इसमें आर्थिक रूप से पिछड़ों को आरक्षण नहीं दिया जा रहा था। पोर्टल में ऐसा कोई कॉलम नहीं था, न ही अभ्यर्थी इस पर अपना प्रमाणपत्र अपलोड कर पा रहे थे।

इसके चलते एक दर्जन से ज्यादा जिलों के डीएम ने हाथ खड़े कर दिए और शासन से परामर्श मांगा। शासन ने इसमें न तो कोई स्पष्टीकरण जारी किया और न ही पोर्टल पर इससे संबंधित कोई संशोधन किया। लिहाजा न भर्तियां हुईं और न ही भर्तियां स्थगित करने का कोई आदेश जारी हुआ। विभाग की वेबसाइट पर अब भी वह लिंक मौजूद है, जिससे आवेदन किया जा सकता है लेकिन अब इसे नए सिरे से करने की योजना है।

By Bhoodev Bhagalia

जागरूक यूथ न्यूज डिजिटल में सीनियर डिजिटल कंटेंट प्रोड्यूसर है। पत्रकारिता की शुरुआत हिन्दुस्तान अखबार, अमर उजाला, समर इंडिया होते हुए जागरूक यूथ न्यूज में पहुंचा। लगातार कुछ अलग और बेहतर करने के साथ हर दिन कुछ न कुछ सीखने की कोशिश। राजनीति, अपराध और पॉजिटिव खबरों में रुचि।

Related Post

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *