Sun. Aug 14th, 2022
Supriya Jatav

नई दिल्ली। नेटवर्क

आज हमारे समाज में बेटियां बेटों से कम नहीं है। कई क्षेत्रों में सफलता का परचम लहरा चुकी है। सुप्रिया जाटव Supriya Jatav ने ओपन कराटे चौंपियनशिप karate championship में गोल्ड Gold जीत कर इतिहास रच दिया है। और खास बात ये है कि ऐसा करने वाली वे देश की पहली महिला कराटे खिलाड़ी बन गई है। कराटे चौंपियन सुप्रिया जाटव Supriya Jatav ने अमेरिका के लास वेगास में गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया है।

बाबा साहब को आदर्श मानकर प्राप्त की सफलताः सुप्रिया जाटव

सुप्रिया जाटव ने बाबा साहेब को अपना आदर्श मानती है। बाबा साहब को अपना आदर्श मानने वाली सुप्रिया जाटव ने बताया कि कैसे उन्हें स्पोर्ट्स में जातिगत समस्या से जूझते हुए बेहतर परफ़ॉर्म करना पड़ता है। सुप्रिया के पिता फौज में रहे हैं। इसलिए शुरू से ही वह अनुशासित हैं।

47375077

छह साल की उम्र से कर रही थी तैयारी


सुप्रिया जब छह साल की थी, तभी उनके पिता ने ग्वालियर स्थित कराटे सेंटर में एडमिशन करवा दिया था। ग्वालियर से ही सुप्रिया की ट्रेनिंग की शुरुआत हो गई थी। पिता ने बताया कि मैंने बेटी को वहां सेल्फ डिफेंस सीखने को भेजा। मुझे क्या पता था कि उनकी बेटी एक दिन इसी खेल के जरिए उनका नाम ऊंचाइयों तक पहुंचा देगी। सुप्रिया के मन को यह खेल इतना भाया कि उन्होंने इसी में अपना फ्यूचर देख लिया।

सुप्रिया जाटव अबतक 59 गोल्ड जीत चुकी है

जाटव
कराटे खिलाड़ी सुप्रिया जाटव 


सुप्रिया अभी तक कराटे चौंपियन में छह इंटरनेशनल गोल्ड, 22 नेशनल गोल्ड सहित 37 मेडल अपने नाम कर चुकी हैं। सुप्रिया को प्रदेश स्तर पर एकलव्य और विक्रम अवॉर्ड भी मिल चुका है। एमपी में सुप्रिया को खेल कोटे से सरकारी नौकरी मिली है। साथ ही एमपी कराटे एकेडमी की एसोसिएटेड मेंबर भी हैं। वह रोजाना प्रैक्टिस भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम में होती है। वह भविष्य में कोच बनना चाहती हैं।


केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने दी बधाई
सुप्रिया की सफलता पर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बधाई दी है। जब वे भोपाल लौटी तो उनका शानदार स्वागत भी हुआ है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बधाई देते हुए कहा कि मप्र की बेटी सुप्रिया जाटव ने अमेरिका के लास वेगास में आयोजित यूएस ओपन कराटे चौंपियनशिप में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि उन्होंने भारत को एक स्वर्ण और एक कांस्य पदक जीतकर देश को गौरवान्वित किया है। इस सफलता पर सुप्रिया जाटव को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। राष्ट्र को आप पर गर्व हैं।

सुप्रिया जाटव के बारे में रोचक तथ्य

इंडियन आर्मी फैमिली में पली बढ़ी सुप्रिया जब 6 साल की हुई तो उनके पिताजी ने उनको सेल्फ डिफेंस के लिए ग्वालियर के कराते अकादमी में करा दिया।


सुप्रिया जाटव ने अबतक 37 मेडल अपने नाम किए है जिनमें 22 नेशनल गोल्ड मेडल और 12 इंटरनेशनल मेडल भी जीतें है।
साल 2015 में सुप्रिया को विक्रम अवार्ड से सम्मानित किया गया।


इनको अपने खेल प्रदर्शन पर एकलव्य अवार्ड भी मिल चुका है।

सुप्रिया जाटव को स्पोर्ट्स कोटे से सरकारी नौकरी भी मिल चुकी है और वे कराटे के साथ स्पोर्ट्स में मॉडलिंग भी करती है।
सुप्रिया आगे जाकर कराते कोच बनना चाहती है।

supriya jatav
कराटे खिलाड़ी सुप्रिया जाटव 

यूपी के आगरा जनपद की है निवासी


सुप्रिया जाटव यूपी के आगरा जनपद के गांव चुन्नीलाल की निवासी है। यूएसए कराटे चौंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है। वह कराटे मिक्स इवेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली देश की पहली कराटे एथलीट है। बेटी की उपलब्ध पर पिता अमर सिंह और मां मीना ने खुशी जाहिर की है। सुप्रिया के पिता सेना में रह चुके हैं।

बाह क्षेत्र के पुरा चुन्नीलाल गांव निवासी सुप्रिया जाटव ने कराटे में अपना सफर गुजरात के अहमदाबाद से शुरू किया था। इन दिनों भोपाल का प्रतिनिधित्व कर रही सुप्रिया जाटव ने अमेरिका के लॉस वेगास में स्पर्धा के सीनियर एथलीट 61 किलोग्राम भार वर्ग की व्यक्तिगत कुमीते फाइट में जापान की एथलीट को शिकस्त देकर कांस्य पदक जीता।

मिक्स इवेंट में सुप्रिया ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। सुप्रिया की उपलब्धि पर गांववालों ने खुशी जताई है। सुप्रिया के पिता ने कहा कि बेटी के सपने को साकार करने के लिए उन्होंने अवसर मुहैया कराए तो बेटी ने निराश नहीं किया। वहीं बाह की विधायक पक्षालिका सिंह एवं पूर्व मंत्री अरिदमन सिंह ने बधाई दी है।