Wed. Aug 10th, 2022
cm up

लखनऊ। नेटवर्क


यूपी सरकार मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के अर्न्तगत करीब 40 लाख परिवारों को लाभ देने जा रही है। इस योजना का लाभ देने के लिये प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को निर्देश भी दे दिये है।


मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ देने के लिए स्टेट एजेंसी कांप्रिहेंसिव हेल्थ एंड इंटीग्रेटेड सर्विसेज (सांचीज) द्वारा इसी माह विशेष अभियान शुरू करने की तैयारी कर ली गई है। हर राशन की दुकान पर कियोस्क लगाकर अंत्योदय कार्डधारकों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पंजीकृत किया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल में राज्य के सभी अंत्योदय कार्डधारकों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ देने का फैसला किया था। 22 जुलाई 2021 को इस संबंध में कैबिनेट से प्रस्ताव स्वीकृत हुआ था। योजना के तहत सभी अंत्योदय कार्ड धारकों को पांच लाख तक मुफ्त इलाज की सुविधा मिल सकेगी। राज्य सरकार की प्राथमिकता में होने के कारण अब इस काम को तेजी से निपटाने का फैसला किया गया है।

सभी राशन दुकानों पर बनेंगे कार्ड


राशन की दुकानों पर कियोस्क लगाकर गरीबों के कार्ड बनाए जाने का विशेष अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है। यह अभियान इसी महीने के अंतिम सप्ताह में शुरू होगा।

मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत गरीब तबके के लोगों को पांच लाख तक मुफ्त इलाज की सुविधा दी थी। प्रदेश में 1 करोड़ 18 लाख लोग आयुष्मान योजना में सुरक्षा कवर प्राप्त कर चुके हैं। बाकी बचे लोगों के लिए योगी सरकार द्वारा अपने स्तर से मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू की गई थी।


ऑनलाइन आवदेन करें
मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ लेने के लिये सीधे आप विभाग की बेवसाइड https://ayushmanup.in पर जाकर आवेदन कर सकते है। आवेदन के बाद लॉगइन कर करे कार्ड के लिये अप्लाई कर सकते है।

मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभ


मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का आरंभ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 1 मार्च 2019 को किया गया है।
इस योजना के माध्यम से प्रदेश के नागरिकों को ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान किया जाएगा।
वे सभी नागरिक जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ प्राप्त करने से वंचित रह गए हैं उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
इस योजना के माध्यम से लगभग 10 करोड़ परिवारों को लाभ पहुंचाया जा रहा है।
इस योजना पर होने वाला पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 40 लाख अंत्योदय कार्डधारक परिवारों को शामिल करने का भी निर्णय लिया गया है।
यह निर्णय 21 जुलाई 2021 को हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया है।
यह बैठक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में हुई थी।
इस योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार ने 102 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया है।
यदि इस योजना के कार्यान्वयन के लिए अतिरिक्त राशि की आवश्यकता पड़ती है तो इसकी व्यवस्था अनुपूरक बजट के माध्यम से की जाएगी।
इस योजना के अंतर्गत प्री एवं पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन खर्च शामिल किया गया है।
प्री एडजस्टिंग कंडीशन भी पहले दिन से इस योजना के अंतर्गत कवर की गई है।
आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए।
इस योजना का लाभ आवेदक को तभी प्रदान किया जाएगा जब आवेदक ऐसी कोई अन्य सरकारी स्वस्थ बीमा योजना का लाभ ना प्राप्त कर रहा हो।
आवेदक आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से होना चाहिए।
महत्वपूर्ण दस्तावेज
आधार कार्ड
राशन कार्ड
निवास प्रमाण पत्र
आय प्रमाण पत्र
बर्थ सर्टिफिकेट
मोबाइल नंबर
पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ