Mon. Feb 6th, 2023

लखनऊ। नेटवर्क

यूपी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक के दौरान 9 महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. इसमें सबसे महत्वपूर्ण प्रस्ताव बेसिक शिक्षा के अनुदेशक का मानदेय बढ़ाते हुए 7 हजार रुपये से 9 हजार रुपये कर दिया गया है. वहीं रसोइयों को ड्रेस के लिए 500 रुपये देने का फैसला किया गया. साथ ही रसोइयों के लिए एक बड़ा निर्णय लेते हुए इनका भी मानदेय बढ़ाया गया है. इसे 1500 रुपये से बढ़ा कर 2 हजार कर दिया गया है.


सुरेश खन्ना ने बताया कि अब तक राज्य में एथनॉल चाइना से लिया जाता था लेकिन अब सरकार खुद 10 लाख लीटर एथनॉल का निर्माण करेगी. वहीं पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर टोल कलेक्‍शन और एंबुलेंस चलाने के लिए निविदा हुई थी. इसके संबंध में अब टाले वसूलने की अनुमति दे दी गई है. साथ ही एक्सप्रेसवे पर अब एंबुलेंस और पेट्रोलिंग के वाहन भी चलेंगे.


वहीं इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार के खिलाफ भी अपनी नीती को लेकर नए निर्देश जारी किए. इसके तहत अब मंत्रियों के साथ ही आईएएस और आईपीएस अफसरों को अपने परिवार के साथ ही खुद की संपत्ति का भी ब्यौरा देना होगा. भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए अब राज्य के सभी मंत्री भी अपनी संपत्ति का ब्यौरा देंगे. मंत्रियों और अफसरों को बताना होगा कि उनकी चल और अचल संपत्ति में हर साल कितना इजाफा हुआ. साथ ही इस विवरण को ऑनलाइन पोर्टल पर सार्वजनिक किया जाएगा जिससे लोगों को भी पता लग सके कि किस के पास कितनी संपत्ति है.


इसके साथ ही सीएम ने कहा कि कि मंत्रियों के किसी भी कामकाज में परिवार के लोगों का कोई भी हस्तक्षेप नहीं होगा. साथ ही उन्होंने ये भी साफ किया कि ऐसा कुछ भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. सीएम योगी ने जानकारी दी कि यूपी के 18 मंडलों में सभी मंत्री अब जनता के दरवाजे पर जाएंगे. इसके लिए समय भी निर्धारित कर दिया गया है और मंत्रियों को उनके मंडलों के बारे में भी जानकारी दे दी गई है.