Mon. Feb 6th, 2023

नई दिल्ली. पोस्ट ऑफिस की सेवाओं पर पूरे भारत का वर्षों से भरोसा रहा है. सरकार द्वारा समर्थित होने के कारण इसकी बचत योजनाएं बिलकुल जोखिम मुक्त होती हैं. लाखों लोग पोस्ट ऑफिस की स्कीमों में निवेश करना पसंद करते हैं. इस योजना में निवेश करना अपने भविष्य को सुरक्षित करने के साथ-साथ बुरे समय या इमरजेंसी के लिए खुद को तैयार करना है.

इसके बाद भी कई लोग सेविंग करने से बचते हैं. सेविंग से बचने के पीछे बड़ा कारण ज्यादा प्रीमियम भी होना है. लेकिन अब ऐसी कई योजनाएं हैं जिनमें प्रीमियम या निवेश काफी कम है, जिसमें ग्रामीण आबादी भी पैसा निवेश कर सकती है. इसी लिस्ट में ग्रामीण इलाकों के लोगों के लिए सुमंगल ग्रामीण डाक जीवन बीमा योजना  एक ऐसी ही छोटी बचत योजना है. इस योजना में कोई भी निवेश कर सकता है और अपने भविष्य को सुरक्षित कर सकता है.

आपको बता दें कि सुमंगल ग्रामीण डाक जीवन बीमा योजना का लाभ 19 वर्ष से 45 वर्ष की आयु के बीच का कोई भी भारतीय नागरिक उठा सकता है. इसमें 10 लाख रुपये का इंश्योरेंस मिलता है. वहीं अगर पॉलिसीहोल्डर की मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को प्रीमियम का पैसा मिल जाता है. इस योजना के 2 मैच्योरिटी पीरियड होते हैं. खाताधारक 15 साल या 20 साल का मैच्योरिटी पीरियड चुन सकता है. 15 साल की पॉलिसी के तहत बीमित राशि का 20-20 प्रतिशत 6, 9 और 12 साल पूरे होने पर मनी बैक के रूप में मिलता है. वहीं, 20 साल की पॉलिसी में 8, 12 और 16 साल पूरे होने पर मनी-बैक मिलता है. शेष 40 प्रतिशत मैच्योरिटी बोनस के साथ मिलता है.

मैच्योरिटी पर मिलता है 14 लाख रुपया
बता दें, इस योजना में अगर 25 साल का व्यक्ति 7 लाख रुपये की सम एश्योर्ड के साथ 20 साल की पॉलिसी लेता है तो उसे हर दिन 95 रुपये का प्रीमियम देना होगा. यह एक महीने में 2850 रुपये और 6 महीने में 17,100 रुपये है. आपको आपका पैसा वापस मिल जाएगा लेकिन मैच्योरिटी पर यह रकम बढ़कर 14 लाख रुपये हो जाएगी. इस योजना में आपके इन्वेस्टेड पैसे वापस करने के अलावा समय-समय पर पैसे भी मिलता है. साथ ही इसमें दिए जाने वाले प्रीमियम पर आप आयकर कानून के सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट का दावा कर सकते हैं.