Mon. Feb 6th, 2023

सिद्धार्थनगर। जनपद में संचालित हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर तैनात सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों ने सेंटर पर मूलभूत सुविधाओं के न होने समेत विभिन्न मदों से होने वाले भुगतान में हीलाहवाली के मुद्दे पर सांसद जगदंबिका पाल, शोहरतगढ़ के विधायक विनय वर्मा से मुलाकात की। इस मौके पर सभी ने बिंदुओं का मांगपत्र भी सौंपा। सांसद ने सीएमओ को तीन दिन के भीतर बिंदुवार समस्या समाधान करते हुए अवगत कराने का निर्देश दिया।

माधव प्रसाद त्रिपाठी मेडिकल कॉलेज के सभागार में शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम संपन्न होने के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल सांसद जगदंबिका पाल, विधायक शोहरतगढ़ विनय वर्मा से मिला। धीरेंद्र मणि त्रिपाठी, बलेश कुमार चौधरी, सूरज मोदनवाल, अभिषेक चौधरी, कंचन राव, अब्दुल कादिर, सोनिका गुप्ता, राम सिंह, अंजुम, महेंद्र कुमार ने अवगत कराया कि आयुष्मान भारत कार्यक्रम अंतर्गत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर सरकार की प्राथमिकता में है।

सेंटर के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की जनता के स्वास्थ्य सुविधाओं का ख्याल किया जा रहा है। साथ ही अन्य सरकारी योजनाओं, कार्यक्रमों का शत-प्रतिशत क्रियान्वयन हो रहा है। इसके बाद भी विभागीय स्तर पर समस्याओं का समाधान नहीं किया जा रहा है। सौंपे गए मांगपत्र में अवगत कराया कि अधिकांश सेंटर पर शौचालय, बिजली, पानी, फर्नीचर की व्यवस्था नहीं है। सर्वाधिक परेशानी उन सेंटरों पर है, जहां महिला सीएचओ तैनात है।

CHO सीएचओ को मिलने वाली PBI पीबीआई भुगतान के मामले में सीएमओ और ब्लाक स्तरीय सीएचसी, पीएचसी पर चक्कर लगाने को मजबूर होना पड़ रहा है। एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाकर सटीक जवाब तक नहीं मिलता है। मिशन निदेशक के स्पष्ट निर्देश के बाद भी सीएचओ से अतिरिक्त कार्य लिया जाता है।

टीकाकरण से संबंधित बाक्स को उठाने के लिए 10 से 15 किमी. जाना पड़ता है। इसके लिए कोई भुगतान भी नहीं दिया जाता है। ऑनलाइन रिपोर्टिंग समेत अन्य कार्य अपडेट के लिए दबाव तो बनाया जाता है, पर इंटरनेट की सुविधा अथवा वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं दी जाती है। सांसद जगदंबिका पाल, विधायक विनय वर्मा ने सीएमओ डॉ. बीके अग्रवाल को तीन दिन के भीतर समस्या समाधान के निर्देश दिये।